AFFILIATED C.B.S.E. BOARD (CODE NO. 2130781)

प्रबंधक की कलम से

Managers Message श्री महाप्रभु पब्लिक स्कूल एवं कॉलेज बालक - बालिका के चतुर्मुखी विकास के लिए विभिन्न आयामो का समय - समय पर आयोजन करता है |

व्यक्ति को जीवन में अनेक प्रकार कि चुनौतियो का सामना करना पड़ता है | ये चुनौतियां हमारे लिए एक प्रकार का उपहार लेकर आती है | जीवन कि इन चुनौतियों को साहस के साथ स्वीकारने एवं उसकी बाधाओं को पार करने पर हमें सफलता रूपी उपहार मिलता है किन्तु इसके विपरीत हताशा / निराशा के कारण चुनौतियों का सामना करने से पीछे हट जाने से असफलता के कारण जीवन अंधकारमय लगने लगता है |

किसी कार्य को करने के लिए जितना अधिक संघर्ष करना पड़ता है परिणाम की सफलता उतनी ही शानदार होती है | चुनौतियां जलते हुए अंगारा होती है | सोना शुद्ध करने के लिए अग्नि में तपाया जाता है | तपने के बाद शुद्ध सोने कि प्राप्ति होती है | इसी प्रकार कठिनाइयों से तपा हुआ व्यक्ति सफलता के बाद पूर्ण व्यतित्व का आयाम लेकर समाज को सुन्दर दिशा देता है |

कार्य कि सफलता में दो मुख्य निर्धारक है - (1) अवसर कि परख (२) उपुक्त समय पर निर्णय लेना | प्रायः लोग सही अवसर पर कार्य नहीं करते हैं | अतः सफलता हाथ नहीं है | निर्णय कि क्षमता समय के साथ होने से सदैव सफलता कदम चूमती है | इसके अतिरिक्त दूरदर्शिता एवं ततउत्पन्न मति भी सफलता के लिए उत्प्रेरक का कार्य करती है |

आवश्यक एवं अनिवार्य रूप से स्मरणीय रहे कि सदैव प्रत्येक कार्य कि सफलता भी अनर्थकारी सिद्ध होती है | प्रत्येक कार्य कि सफलता मनुष्य को अहंकारी एवं कुपतिगामी होने के लिए प्रेरित करती है | अतः यदा - कदा सफलता के मोड़ पर पहुंचना आवश्यक है ऐसे समय में व्यक्ति आध्यात्मिक एवं ईश्वर सत्ता का बोध करता है जिसके द्वार सृजन हेतु खुलते हैं |

उपर्युत्त तथ्यों के आलोक में प्रधानाचार्य एवं शिक्षकगण के निर्देशन में विद्यालय के सुरम्य वातावरण में छात्र - छात्राओं के चुतर्दिक विकास द्वारा देश के नवनिर्माण में अग्रणी भूमिका का निर्वहन करेगा | विद्यालय परिवार को शुभ सन्देश एवं विद्यार्थियों की सवर्णिम भविष्य कि कामनाओं सहित |

आपका
श्री श्रीभगवान पाण्डेय
प्रबंधक
S.M.P.P.S